खिलाडि़यों को शिक्षा विभाग 250 तो खेल विभाग दे रहा प्रतिदिन 150 रुपए का भोजन

प्रदेश के खिलाड़ियों की ओर से अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पदक जीतने के बावजूद उनकी डाइट में भी भेदभाव किया जा रहा है। सरकार के ही दो महकमों ने खिलाड़ियों की डाइट के लिए अलग-अलग राशि तय ...

खिलाडि़यों को शिक्षा विभाग 250 तो खेल विभाग दे रहा प्रतिदिन 150 रुपए का भोजन
खिलाडि़यों को शिक्षा विभाग 250 तो खेल विभाग दे रहा प्रतिदिन 150 रुपए का भोजन

चंडीगढ़ (मनोज कुमार).प्रदेश के खिलाड़ियों की ओर से अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पदक जीतने के बावजूद उनकी डाइट में भी भेदभाव किया जा रहा है। सरकार के ही दो महकमों ने खिलाड़ियों की डाइट के लिए अलग-अलग राशि तय की हुई है। महंगाई के इस दौर में जहां शिक्षा विभाग खेलो इंडिया यूथ गेम्स में शामिल होने वाले चयनित खिलाड़ियों को प्रतिदिन 250 रुपए डाइट निर्धारित की है, वहीं प्रदेश के खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग ने मात्र 150 रुपए डाइट प्रति दिन तय की हुई है।


खेल विभाग की ओर से पंचकूला, रोहतक, सोनीपत और करनाल में आयोजित प्रशिक्षण शिविरों का एक दिन पहले ही समापन किया गया, जिसमें 12 खेलों के खिलाड़ी शामिल हुए। लेकिन इनकी प्रतिदिन डाइट 150 रुपए की थी। जबकि 28 दिसंबर से 2 जनवरी तक शिक्षा विभाग की ओर से पानीपत, पंचकूला, रोहतक और सोनीपत में खेल प्रशिक्षण शिविर संचालित किया जा रहा है।

 

इसमें शामिल होने वाले खिलाड़ियों की प्रतिदिन डाइट 250 रुपए की होगी। बता दें कि खेल विभाग ने 252 खिलाड़ियों काे प्रशिक्षण दिलाया है तो शिक्षा विभाग 48 खिलाड़ियों को दिला रहा है। कुल 300 खिलाड़ियों का इस आयोजन के लिए चयन किया गया है।

 

खेल विभाग ने इन खेलों के खिलाड़ियों काे दिया प्रशिक्षण
खेल विभाग की ओर से एथलेटिक्स और कुश्ती के 24- 24, आर्चरी के 11, बॉक्सिंग के 34, हॉकी के 18, टेनिस के 7, बॉस्केटबॉल के 12, वालीबॉल के 24, कबड्‌डी के 24, हॉकी के 18, जुड्‌डो के 14, खो-खो के 24, फुटबॉल के 18 खिलाड़ियों को प्रशिक्षण दिया गया है। इन सभी की डाइट 150 रुपए रखी गई। साथ ही 35 रुपए बेड चार्ज भी दिया गया है।

 

गुरुवार से शिक्षा विभाग की ओर से शुरू किए जाने वाले प्रशिक्षण में हॉकी के 36, बास्केटबॉल के 12 खिलाड़ियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इन्हें तीन कोच प्रशिक्षण दे रहे हैं। जबकि तीन मैनेजर भी साथ हैं। प्रशिक्षण 28 दिसंबर से शुरू होकर गुरुवार तक चलेगा। अंडर-17 इन खिलाड़ियों को 250 रुपए की प्रतिदिन डाइट दी जा रही है।

असम में होगा खेलो इंडिया-2020का आयोजन
असम के गुवाहटी में इस बार खेलो इंडिया-2020 का आयोजन किया जाएगा। इसकी शुरूआत 9 जनवरी से होगी। जबकि समापन 22 जनवरी को होगा। खेल इंडिया में पहले भी हरियाणा का दबदबा रहा है।


दोनों विभागों में अंतर को लेकर चैक कराएंगे
खेल विभाग की ओर से खिलाड़ियों की डाइट के लिए कितना पैसा दिया जा रहा है। इसके बारे में अभी जानकारी नहीं है। लेकिन दोनों विभाग में अंतर को लेकर चेक कराया जाएगा।
-संदीप सिंह, खेल मंत्री

 

एक्सपर्ट-व्यू
राजसिंह दहिया, रिटायर्ड सीनियर स्पोर्ट्स ऑफिसर-
यदि खिलाड़ियों को ठीक से खुराक नहीं मिलेगी तो उनसे अच्छे प्रदर्शन की कैसे उम्मीद की जा सकती है। खिलाड़ियों को 250 से 300 रुपए प्रतिदिन डाइट के देने चाहिए। ताकि वे पोष्टिक आहार लेकर कैंप में मजबूत शरीर और मन से प्रशिक्षण ले सकें। जब खिलाड़ी प्रशिक्षण बेहतर तरीके से लेगा, तभी वह प्रतिस्पर्धा में भी बेहतर प्रदर्शन कर प्रदेश को मेडल दिला पाएगा। दहिया का कहना है कि 150 रुपए डाइट बहुत कम है। खेल विभाग को इसे बढ़ाना चाहिए। क्योंकि महंगाई बढ़ चुकी है, इस हिसाब से यह राशि कम है।

 

यह भी जानें-ये होंगे खेल इंडिया यूथ में शामिल
अंडर-21 में हरियाणा की ओर से एथलेटिक्स, कुश्ती, आर्चरी, बॉक्सिंग, हॉकी, टेनिस, कबड्‌डी, वालीबॉल, जुड्‌डो में लड़के और लड़कियां दोनों की टीम खेल इंडिया यूथ गेम्स में शामिल होंगे। जबकि खो-खो, फुटबॉल में लड़कियां मैदान में उतरेंगी। अंडर-17 में हॉकी की लड़के और लड़कियों की टीमें शामिल है। जबकि बॉस्केटबॉल में सिर्फ लड़कियों की टीम गेम्स में शामिल होगी।